5:41 pm - Thursday April 19, 2018

अदरक के चमत्कारी फायदे…

blast-newsनई दिल्ली : ऐतिहासिक अभिलेखों से भी पहले से भारत और चीन में अदरक को एक मसाले और औषधि के रूप में उपजाया और इस्तेमाल किया जाता था। दोनों देशों के शुरुआती चिकित्सा ग्रंथों में ताजे और सुखाए गए, दोनों रूपों में इस मसाले के औषधीय इस्तेमाल का विस्तार से वर्णन है। आपने कई बार अदरक का इस्तेमाल अपने खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया होगा, पर क्या आपको पता है की अदरक के इस्तेमाल से आप अपनी खूबसूरती को भी निखार सकते है, आज हम आपको अदरक के ब्यूटी फायदों के बारे में बताने जा रहे है,

1- अगर आपके चेहरे पर झुर्रियां आ गयी है तो इस समयसा से छुटकारा पाने के लिए अदरक को धुप में रखकर सूखा ले, अब इसे पीसकर पाउडर बना ले, अब इस पाउडर में थोड़ा सा शहद और नींबू का रस मिला कर पेस्ट बना ले,अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाये, जब ये सूख जाये तो अपने चेहरे को ठन्डे पानी से धो दें. इससे आपके चेहरे पर मौजूद झुर्रियां न सिर्फ कम होने लगेंगी, बल्कि इससे त्वचा में कसाव भी आएगा.

2- अपनी स्किन के दाग धब्बो को दूर करने के लिए अदरक को काटकर अपने चेहरे पर मौजूद दाग धब्बो पर रगड़े, ऐसा करने से दाग धब्बे दूर हो जायेगे, और आपकी स्किन की सभी समस्याएं धीरे-धीरे खत्म होने लगेंगी.

3- अदरक के इस्तेमाल से स्किन की नेचुरल ब्यूटी को भी बढ़ाया जा सकता है, इसके लिए अदरक के रस को निकाल ले, अब इसमें थोड़ा सा गुलाबजल और शहद में मिलाकर पेस्ट बना ले, अब इसे चेहरे पर लगाएं और तकरीबन 20-25 मिनट बाद अपना चेहरा धो दें. ऐसा करने से आपकी स्किन में नेचुरल निखार आ जायेगा,

4-गठिया के दर्द से राहत पाने के लिए, गर्म अदरक के पेस्ट को हल्दी के साथ एक दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इसके अलावा, अपने आहार में कच्चे या पके हुए अदरक को शामिल करें। दर्द कर रही मांसपेशियों और जोड़ों को शांत करने के लिए आप अपने स्नान के पानी में अदरक के तेल (ginger essential oil) की कुछ बूंदों भी मिला सकते हैं।

blast-news5 – रिसर्च ने दिखाया है कि अदरक की प्रोस्टाग्लैंडीन को रक्त वाहिकाओं में दर्द और सूजन पैदा करने से रोकने की क्षमता की वजह से, यह माइग्रेन-पीड़ित व्यक्ति को माइग्रेन के दर्द से राहत दिलाने में सहायक है। माइग्रेन का दर्द होने पर आप अदरक की चाय पी सकते हैं जिससे आपको असहनीय दर्द को अवरुद्ध करने में सहायता मिलेगी और परिणाम स्वरुप संबंधित चक्कर और मतली को रोका जा सकता है।

6 – अदरक एक प्राकृतिक एनाल्जेसिक और दर्द निवारक है, इसलिए इसे गले के दर्द और जलन को शांत करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। यह खांसी को कम करने में भी मदद कर सकता है, खासकर जब उसका कारक आम सर्दी हो। अदरक की तीव्र उष्म कार्यशीलता फेफड़ों से बलगम को खत्म करने में मदद करती है जो खाँसी से राहत दिलाने में अत्यंत सहायक है। खांसी से राहत पाने के लिए कसे हुए अदरक का सेवन कर सकते हैं या फिर अदरक से बनी हुई चाय का आनंद उठा सकते हैं। उपचार प्रक्रिया तथा खांसी को कम करने के लिए आप अदरक के तेल से छाती व पीठ की मालिश कर सकते हैं।

7 – अदरक आपके रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है और इलाज के लिए इस्तेमाल होने वाली इंसुलिन और अन्य दवाओं के प्रभाव को बढ़ा सकता है। रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए विशेषज्ञों का सुझाव है कि सुबह-सुबह सबसे पहले काम आप यह करें कि एक गिलास गर्म पानी में अदरक के रस का एक चम्मच मिलाकर पी लें।
मधुमेह से जुड़े विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी जटिलताओं को अदरक की मदद से काफी हद तक सीमित किया जा सकता है। अदरक का नियमित सेवन, मूत्र के प्रोटीन का स्तर कम कर सकता है। इसके अतरिक्त, यह पानी के सेवन और मूत्र उत्पादन कम करता है और अनियंत्रित रक्त शर्करा के कारण विभिन्न प्रकार के नुकसान का खतरा कम करता है।

ध्यान देने योग्य बातें

  • दो साल से कम उम्र के बच्चों को अदरक नहीं दी जानी चाहिए।

  • आम तौर पर, वयस्कों को एक दिन में 4 ग्राम से ज्यादा अदरक नहीं लेनी चाहिए। इसमें खाना पकाने में इस्तेमाल किया जाने वाला अदरक शामिल है।

  • गर्भवती स्त्रियों को 1 ग्राम रोजाना से अधिक नहीं लेना चाहिए।

  • आप अदरक की चाय बनाने के लिए सूखे या ताजे अदरक की जड़ का इस्तेमाल कर सकते हैं और उसे रोजाना दो से तीन बार पी सकते हैं।

  • अत्यधिक सूजन को कम करने के लिए आप रोजाना प्रभावित क्षेत्र पर कुछ बार अदरक के तेल से मालिश कर सकते हैं।

  • अदरक के कैप्सूल दूसरे रूपों से बेहतर लाभ देते हैं।

  • अदरक खून पतला करने वाली दवाओं सहित बाकी दवाओं के साथ परस्पर प्रभाव कर सकती है।

  • किसी विशेष समस्या के लिए अदरक की खुराक की जानकारी और संभावित दुष्प्रभावों के लिए हमेशा डॉक्टर से संपर्क करें।

 

Filed in: लाइफ स्टाइल, स्वास्थ्य

No comments yet.

Leave a Reply