6:30 pm - Wednesday September 20, 2017

अहमदाबाद LIVE: PM मोदी और आबे ने किया बुलेट ट्रेन परियोजना का शिलान्‍यास

3नई दिल्ली : लंबे वक्त के इंतजार के बाद आखिरकार आज भारत और जापान की दोस्ती अहम पड़ाव पर पहुंच गया. आज अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन की आधारशिला रखी जा रही है. देश के लिए यह ऐतिहासिक क्षण माना जा रहा है. धीमी स्पीड और खराब सेवाओं की शिकायतों से जूझ रही भारतीय रेलवे के लिए यह मील का पत्थर साबित होगी. बुलेट ट्रेन के जरिये भारत को रेलवे की स्पीड टेक्नोलॉजी मिलेगी. जिसका फायदा अन्य ट्रेनों को भी मिलेगा. अपने संबोधन में शिंजे आबे ने कहा जापान और भारत की रिश्तेदारी हिंद और प्रशांत माहासागर का संगम है.जापान और भारत एशिया के 2 बड़े लोकतंत्र हैं. शक्तिशाली भारत जापान के हित में है. उन्होंने कार्यक्रमों को संबोधित करते हुए कहा कि मेरी इच्छा है कि अगल बार जब मैं अहनदाबाद आऊं तो बुलेट ट्रेन से पीएम मोदी के साथ सफर करूं.

210.38AM: पीएम मोदी ने कहा, आधे-अधूरे संकल्पों और बंधे हुए सपनों के साथ कोई भी देश आगे नहीं बढ़ सकता है।

10.37AM: पीएम मोदी ने कहा, मैं अपने मित्र शिंजो अबे का भारत और गुजरात की धरती पर स्वागत करता हूं।

10.35AM: पीएम मोदी ने गुजराती में किया जापान के पीएम शिंजो अबे का अभिवादन

310.32AM: शिंजो आबे ने अपने भाषण का अंत हिन्दी में ‘धन्यवाद’ के साथ किया।

10.30AM: शिंजो आबे ने जापान का ज और इंडिया के आई मिल जाए तो जेई बनता है जिसका मतलब है जय।

10.25AM: मेरे मित्र पीएम मोदी एक दूरदर्शी नेता है: शिंजो आबे

10.22AM: शिंजो ने कहा, आज का दिन एक ऐतिहासिक दिन है।

10.20AM: जापान के पीएम शिंजो अबे ने अपने भाषणा की शुरुआत हिंदी में नमस्कार कहकर की।

410.15AM:  गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने कहा, इस प्रॉजेक्ट के लिए गुजरात को चुना गया यह सौभाग्य की बात है।

10.05AM: आज बुलेट ट्रेन की नहीं बल्कि नवभारत की नींव रखी जा रही हैै: महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस

10.02AM: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, बुलेट ट्रेन भारत-जापान के बीच भाईचारे का प्रतीक है।

59.55AM: पीएम मोदी और शिंजो अबे मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड ट्रेन के आधारशिला रखने के अहमदाबाद पहुंचे।

8.45AM: जापान की फर्स्ट लेडी अकी अबे अहमदाबाद के ब्लाइंड पीपल्स एसोसिएशन सेंटर पर जाएंगी।

भारत में चलने वाली बुलेट ट्रेन की अधिकतम गति सीमा 350 किलोमीटर होगी. यह प्रोजेक्ट पांच साल में तैयार होगा. बताया जा रहा है कि इसमें कुल खर्च एक लाख दस करोड़ रुपये हैं. इस महंगे प्रोजेक्ट के लिए जापान भारत को 88,000 करोड़ रुपये का कर्ज दे रहा है. 0.1 प्रतिशत के ब्याज से दिये जाने वाले इस कर्ज को लौटाने की समय सीमा 50 वर्ष तय की गयी है. इस परियोजना के लिए हर साल 20,000 करोड़ रुपये का खर्च होगा. हर दिन 36,000 लोग बुलेट ट्रेन से यात्रा कर पायेंगे. 2053 तक यह क्षमता बढ़कर 1,86,000 हो जायेगी. भविष्य में 16 कारें इंजिन बुलेट ट्रेन चलेगी. बताया जा रहा है कि हर दिन एक तरफ से 35 ट्रेनें चलेगी.

 रूट 

बुलेट ट्रेन की रूट साबरमती रेलवे स्टेशन से लेकर मुंबई – बांद्रा – कुर्ला कॉम्पलेक्स तक रखी गयी है. जिसकी कुल लंबाई 508 किलोमीटर है. फिलहाल ट्रेन चार स्टेशनों पर रूकेगी और दो घंटे सात मिनट में अहमदाबाद की दूरी तय कर लेगी. आगे चलकर 12 स्टेशन निर्धारित किये गये हैं. बांद्रा कुर्ला, ठाणे, विरार, सूरत, बड़ोदरा, भरूच, अहमदाबाद और साबरमती स्टेशन पर रूकेगी. पूरे ट्रैक का 96 प्रतिशत यानी 468 किमी एलिवेटिड ट्रैक होगा. 6 प्रतिशत ट्रैक जमीन के अंदर सुरंग में होगी. 2 प्रतिशत यानी12 किमी ट्रैक जमीन पर होगा.

भारत में ट्रेन की औसत स्पीड अन्य देशों के मुकाबले बेहद कम है. इस लिहाज से देखा जाये तो पहली बार भारतीय रेलवे को स्पीड टेक्नोलॉजी हासिल होगी. सड़क या पारंपरिक माध्यमों की लिहाज से 70 प्रतिशत समय बचत होगी. मुंबई और अहमदाबाद की दूरी तय करने में 8 घंटे लगते हैं, जो घटकर दो घंटे हो जायेगी. 4,000 कर्मचारियों की ट्रेनिंग के लिए बड़ोदरा में हाई स्पीड रेल ट्रेनिंग इंस्टीच्यूट की स्थापना की गयी है. इस प्रोजेक्ट से 16,000 अप्रत्यक्ष रोजगार की संभावना है. परिचालन शुरू होते ही रेलवे के रखरखाव व ऑपरेशन के 4000 कर्मचारियों की जरूरत होगी. वहीं 20,000 कंस्ट्रक्शन वर्कर की जरूरत होगी.

 

Filed in: इंडिया, टॉप 10, पॉलिटिक्स, बड़ी खबर

No comments yet.

Leave a Reply