2:48 am - Friday April 20, 2018

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे का गणित ज्ञान, (-1) + (-1‌) = शून्य होना चाहिए

2देहरादून: (-1) और (-1‌) को जोड़ने पर उत्तर शून्य आएगा। गणित ज्ञान में नई थ्योरी उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री ने दी है। मंत्री अरविंद पांडे ने इस नए कंसेप्ट का अविष्कार एक स्कूल के निरीक्षण के दौरान किया। मंत्री जी की इस थ्योरी के उजागर होने के बाद मीडिया से लेकर सोशल मडिया पर उनका खूब मजाक उड़ रहा है। साथ ही शिक्षा मंत्री के तौर अरविंद पांडे की काबिलियत पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। बात यहीं नहीं खत्म हो जाती है निरीक्षण के दौरान उन्होंने एक महिला टीचर के अभद्र व्यवहार भी किया। इस पर उत्तराखंड के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन भी हुए।

उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे इसी सोमवार को देहरादून के थाणों इलाके के महिला इंटर कॉलेज शिक्षा की क्वॉलिटी की जांच करने पहुंचे थे। कैमिस्ट्री की क्लास चल रही थी। इस पर मंत्री जी रैबीले अंदाज में  महिला टीचर से गणित के सवाल करने लगे।

शिक्षा मंत्री बोले – माइनस प्लस माइनस प्लस होता है, गणित की अपनी इस नई थ्योरी को सही साबित करने पर शिक्षा मंत्री अड़े रहे। शिक्षा मंत्री के तेवर देख पास खड़े अधिकारी की भी हिम्मत नहीं हुई कि सच बता सके। अब शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के मुताबिक (-1) + (-1‌) = शून्य होना चाहिए, जबकि गणित में ये होता -2 है।

गणित की ग़लत व्याख्या ही नहीं शिक्षा मंत्री महिला शिक्षक के साथ अपने अमर्यादित व्यवहार के कारण भी सबके निशाने पर आए।इस बीच सोशल मीडिया में बात पहुंची तो मंत्रीजी की ख़ूब खिल्ली उड़ी।

गुरुवार को उत्तराखंड के कई शहरों में शिक्षकों ने धरना प्रदर्शन किया और मंत्री के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी भी की गई। सरकारी शिक्षकों ने मंत्री के माफ़ी ना मांगने पर काली पट्टी लगाकर अपना विरोध दर्ज करने का भी फ़ैसला किया है।

Filed in: उत्तराखंड, टॉप 10, पॉलिटिक्स

No comments yet.

Leave a Reply