3:19 pm - Thursday February 25, 5255

कानपुर: स्‍टेज पर ठुमके लगा रही थीं सपना चौधरी, बेकाबू भीड़ ने जमकर किया बवाल

1-copyकानपुर : बिग बॉस फेम और हरियाणा की मशहूर डांसर सपना चौधरी का कार्यक्रम अराजकता की भेंट चढ़ गया। बेकाबू भीड़ ने जमकर बवाल किया। पथराव के बीच कुर्सियां चलीं तो भगदड़ मच गई। इस दौरान कई लोगों को चोटें आईं। बड़ी संख्या में लोग जमीन पर गिरकर चुटहिल हो गए। आयोजकों ने सपना को बचाकर किसी तरह मंच से नीचे उतारा। पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया। उत्पाती लोगों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया। जिसे जहां जगह मिली, भाग खड़ा हुआ। कार्यक्रम को बीच में ही खत्म करना पड़ा।

रविवार की शाम बृजेन्द्र स्वरूप पार्क में कार्यक्रम था। तय समय शाम छह बजे से एक घंटे लेट सात बजे सपना चौधरी मंच पर पहुंचीं। दो गाने तक तो स्थिति सामान्य रही। जैसे ही आंखों का काजल गाने पर थिरकना शुरू किया भीड़ बेकाबू होने लगी। लोगों ने हंगामा और हूटिंग शुरू कर दी। चौथे-पांचवें गाने तक सपना ने खुद माइक पकड़कर लोगों को शांत रहने के लिए अपील की। 1

आयोजकों ने कार्यक्रम के लिए बेरीकेडिंग और टिन शेड की दीवार खड़ी कर रखी थी। टिकट और पास वाले लोगों को ही अंदर जाने की इजाजत थी। इसके इतर सैकड़ों लोग बेरीकेडिंग के बाहर खड़े हल्ला कर रहे थे। सपना ने माइक से लोगों से अपील की और दोबारा गाना शुरू किया तो आयोजन स्थल में घुसने को लेकर बाहर मौजूद लोग बेकाबू हो गए। आयोजन स्थल को कवर करने के लिए लगाई गई टिन शेड की बाउंड्री और बेरीकेडिंग तोड़ दी। पुलिस ने बेकाबू भीड़ को रोकने का प्रयास किया पर बड़ी संख्या में उत्पातियों के होने से कुछ नहीं कर सकी। बाहर खड़े सिपाही हुजूम के आगे बेबस खड़े हो गए। लिहाजा किनारे खड़े हो गए। स्वरूपनगर इंस्पेक्टर ने फोन कर और अतिरिक्त फोर्स भेजने का अनुरोध किया। उधर, आयोजकों ने हंगामा देखते हुए टिनशेड हटवा दी। इसके कारण सैकड़ों की संख्या में लोग कार्यक्रम स्थल में दाखिल हो गए।
blast-news
इसके बाद जब सपना ने पल-पल याद तेरी सतावे गीत पर डांस शुरू किया भीड़ फिर बेकाबू हो गई। कार्यक्रम स्थल पर रखी गई कुर्सियां एक दूसरे पर फेंकी जाने लगीं। मीडिया कर्मियों से हाथापाई होने लगी। कार्यक्रम स्थल पर पत्थर चलने शुरू हो गए। फोर्स ने लोगों को रोकने का प्रयास किया। पथराव और हाथापाई के बीच दो दर्जन से अधिक लोग जख्मी हो गए। हालात बेकाबू हो गए तो सपना चौधरी को बीच में कार्यक्रम रोकना पड़ा। आयोजकों ने भी कुछ देर इंतजार के बाद शाम करीब साढ़े आठ बजे खत्म करने का ऐलान कर दिया। सुरक्षा घेरा बनाकर सपना चौधरी को कार्यक्रम स्थल से सुरक्षित बाहर निकाला गया।
इधर, पुलिस के लाठीचार्ज से भगदड़ मच गई। बृजेन्द्र स्वरूप पार्क गेट तक पुलिस ने लोगों को दौड़ा दौड़ाकर पीटा। लगभग आधा घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित किया। पुलिस और आयोजकों को इस बात की आशंका नहीं थी कि कार्यक्रम के दौरान उपद्रव हो सकता है। यह भी अंदाजा नहीं था कि जितने लोग कार्यक्रम स्थल पर होंगे उससे ज्यादा लोग बाहर पहुंच सकते हैं। साउंड बजने के साथ भीड़ बढ़ती गई। कुछ लोग टिकट लेकर लेट पहुंचे तो उन्हें भी अंदर नहीं जाने दिया गया। इससे बवाल बढ़ता चला गया। बाहर जमा लोग डांसर की एक झलक पाने के लिए टिन शेड के ऊपर से झांकने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस को भी यह नहीं पता था कि इतने लोग पहुंच सकते हैं। लिहाजा ज्यादा फोर्स तैनात नहीं की गई थी। बाहर तैनात सिपाही रोकने की कोशिश तो कर रहे थे लेकिन भीड़ ज्यादा होने के नाते उनकी कोई सुन नहीं रहा था।
आयोजन स्थल के बाहर रोशनी के पर्याप्त इंतजाम नहीं थे। सपना चौधरी के मंच पर तो पर्याप्त रोशनी थी लेकिन बाहर कोई खास इंतजाम नहीं थे। इसी का फायदा बाहर खड़े लोगों ने उठाया। पहले टिन शेड की बाउंड्रीवाल गिराई फिर सैकड़ों लोग अंदर दाखिल हो गए।
कार्यक्रम स्थल पर आयोजकों ने टिकट दर के हिसाब से बेरीकेडिंग कर रखी थी। महंगे टिकट वालों को आगे फिर उससे कम वालों को पीछे तथा सबसे कम पैसों के टिकट वाले सबसे पीछे थे। अलग-अलग घेरे में बैठने का इंतजाम किया गया था। जब बाहर से भीड़ टिन शेड तोड़कर अंदर घुसी तो भगदड़ मच गई। कुछ लोगों ने विरोध किया तो कुर्सियां फेंकी जाने लगी। इससे भगदड़ मच गई। जान बचाकर भागे लोगों ने अंदर के बेरीकेडिंग तोड़ दी।

Filed in: उत्तर प्रदेश, जुर्म, मनोरंजन

No comments yet.

Leave a Reply