3:19 pm - Tuesday February 24, 9728

गुजरात के विकास की झूठी तस्‍वीर दुनिया को दिखाई जा रही है : हार्दिक

1अहमदाबाद: पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के संयोजक हार्दिक पटेल ने आज कहा कि कांग्रेस की ओर से सुझाया गया आरक्षण का फार्मूला सही है और उनका संगठन हालांकि पार्टी को सीधे तौर पर समर्थन की घोषणा नहीं कर रहा पर सत्तारूढ भाजपा के विरोध के चलते गुजरात विधानसभा चुनाव में उसे प्रत्यक्ष या परोक्ष फायदा होगा।  हार्दिक ने यहां संवाददाता सम्मेलन में यह भी आरोप लगाया कि भाजपा गुजरात चुनाव में पाटीदार मतों का बंटवारा करने के लिए 200 से 300 करोड़ रुपए खर्च कर निर्दलीय उम्मीदवारों को उतार रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी समझने वाले और गुजरात के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के कैलाशनाथन पर उन्हें राजद्रोह मामले में जेल में रहते हुए आंदोलन समेटने के लिए 1200 करोड़ रुपए का ऑफर देने का आरोप भी लगाया।

3हार्दिक पटेल ने कहा कि आरक्षण पर कांग्रेस के तीन फार्मूला में से पहला ही इतना सही निकला कि बाकी अन्य पर विचार की जरूरत नहीं पड़ी। इससे पाटीदार समुदाय के अन्य लोगों के साथ ही दो प्रमुख संस्थान उमिया धाम और खोंडलधाम भी सहमत हैं। कांग्रेस ने अनुसूचित जाति/जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग के 49 प्रतिशत आरक्षण को ज्यों का त्यों रखते हुए पाटीदार तथा अन्य गैर आरक्षित जातियो के लिए संविधान की धारा 31 (सी) और 46 तथा 15(4) तथा 16 (4) के प्रावधानों के अनुरूप आरक्षण के लिए कानून बनायेगी। कांग्रेस सरकार बनते ही गुजरात विधानसभा में इसके लिए विधेयक पारित करेगी। इसके लिए मंडल आयोग के 22 प्रतिमान के अनुरूप सर्वेक्षण भी कराया जाएगा। कांग्रेस इस पूरे फार्मूला को अपने घोषणा पत्र में शामिल करेगी।

उन्होंने दोहराया कि संविधान के प्रावधान के अनुरूप 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण दिया जा सकता है। उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में तीन अलग अलग निर्णय दिये हैं। 1994 के बाद से 9 राज्यों ने 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण दिया जिनमें से कुछ पर अदालत ने रोक लगा दी पर कर्नाटक,तमिलनाडु समेत कुछ राज्यों में ऐसी व्यवस्था लागू भी है।  उन्होंने कहा कि वह अगले ढाई साल तक किसी पार्टी में नहीं जायेंगे। उनका आरक्षण आंदोलन मांग पूरी होने तक कांग्रेस की सरकार बनने के बाद भी जारी रहेगा। भाजपा का विरोध वह करते रहेंगे और अगर उनके मां-बाप भी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े तो वह उनको वोट नहीं देंगे।

blast-newsउन्होंने कांग्रेस के लिए सीधा प्रचार नहीं करेंगे पर अहंकारी भाजपा का विरोध करेंगे जिसका लाभ निश्चित तौर पर कांग्रेस को मिलेगा। हार्दिक ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस से गुजरात चुनाव के लिए टिकटों की कोई मांग नहीं की थी पर उनकी ओर से बिना उनसे चर्चा किए पास के एक नेता को टिकट देने पर संगठन में नाराजगी हुई थी। पास में किसी तरह का मतभेद नहीं पर भाजपा पास के कुछ संयोजकों को खरीदने का भी प्रयास कर रही है। उनके कार्यक्रमों को भी रोकने तथा उनके संगठन के लोगों को डराने धमकाने का प्रयास भी किया जा रहा है।  

Filed in: गुजरात, टॉप 10, पॉलिटिक्स

No comments yet.

Leave a Reply