3:13 pm - Wednesday December 17, 6747

चौटाला ने भारतीय ओलंपिक संघ को दी पद छोड़ने की धमकी

v

नई दिल्ली। भारतीय ओलंपिक संघ के आजीवन अध्यक्ष नियुक्त किए गए अभय सिंह चौटाला ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) को धमकी देते हुए कहा कि अगर वे उनके इस पद को स्वीकारती नहीं है तो वह एक बार फिर भारतीय खेलों के हित में अपना पद त्याग देंगेे। चौटाला ने आईओए के आजीवन अध्यक्ष और हरियाणा ओलंपिक संघ (HOA) के अध्यक्ष के रूप में एक बयान जारी कर कहा कि मैं भारतीय ओलंपिक संघ को आजीवन अध्यक्ष के मानद पद पर खुद को नियुक्त करने के लिये धन्यवाद देता हूं।

 

मैंने एक अलग पत्र के जरिये भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष एन रामचंद्रन को सूचित किया है कि यदि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति को मेरा इस पद पर नियुक्त होना पसंद नहीं आता है तो मैं अपने पद का त्याग करने के लिये तैयार हूं। उन्होंने कहा कि भारतीय ओलंपिक संघ ने गुवाहाटी और चेन्नई में अपनी वार्षिक बैठक में प्रस्ताव पारित कर मुझे नियुक्त किया। लेकिन यह भी देखना है कि इस पर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की क्या प्रतिक्रिया रहती है।

 

मैंने हमेशा भारतीय खेलों, खिलाडिय़ों, सुशासन, पारदर्शिता और खेलों में ईमानदारी के लिये काम किया है। चौटाला ने कहा कि वर्ष 2012 में मुझे सर्वसम्मति से  भारतीय ओलंपिक संघ का अध्यक्ष चुना गया है। लेकिन जब भारत के अंदर ही निहित स्वार्थी तत्वों ने आईओए के संविधान में संशोधन लाने का काम किया तब मैंने अपना पद त्यागने का फैसला किया। इस संशोधन केे कारण मैंने भारतीय खेलों के हित में  भारतीय ओलंपिक संघ अध्यक्ष का पद छोड़ दिया था।

गौरतलब है कि  भारतीय ओलंपिक संघ ने चेन्नई में अपनी वार्षिक आम बैठक में चौटाला और सुरेश कलमाडी को आजीवन अध्यक्ष नियुक्त किया है जिसका केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल, पूर्व खेल मंत्री अजय माकन, अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा और कई अन्य लोगों ने विरोध किया है। कलमाडी ने तो अपना नाम भ्रष्टाचार के आरोपों से मुक्त होने तक पद स्वीकारने से इंकार कर दिया है जबकि चौटाला अब कह रहे हैं कि यदि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने मंजूर नहीं किया तो वह अपना पद त्याग देंगे।

Filed in: खेल, टॉप 10

No comments yet.

Leave a Reply