3:19 pm - Monday February 24, 9175

दार्जिलिंग हिंसा : नहीं मिल पा रहा है लोगों को खाने पीने का समान

1

Firoz Siddiqui,chief Editor,9644670008

दार्जिलिंग/सिलीगुड़ी। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग हिल्स में कथित रूप से 3 गोरखा कार्यकर्ताओं की मौत और सरकारी संपत्तियों को जलाये जाने की घटना के 1 दिन बाद समूचे क्षेत्र में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

इस बीच गोरखा कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रस्तावित दार्जिलिंग से सिलीगुड़ी तक लगभग 80 किमी मानव श्रृंखला बनाये जाने के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इस बीच गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (GJM) और गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट(GNLF) ने दावा किया है कि सोनादा और चौकबाजार में सुरक्षाबलों की गोलीबारी में 3 युवकों तुसी भूटिया, समीर गुरंग और सूरज सुंदास की मौत हुई है। जबकि राज्य सरकार ने सुरक्षाबलों के द्वारा किसी प्रकार की गोलीबारी की घटना से इंकार किया है।

लेकिन GJM के सहायक सचिव विनय तमांग ने कहा कि गोलीबारी के शिकार युवकों के शवों को लेकर चौकबाजार से रैली निकाली जायेगी और उसके बाद लेबोंग से सिलीगुड़ी तक मानव श्रृंखला बना कर विरोध प्रदर्शन किया जायेगा।

इससे पहले शुक्रवार की रात लगभग 11.00 बजे तुसी की मौत के बाद गोरखा कार्यकर्ताओं ने शनिवार को चौबाजार में प्रदर्शन किया और यूनेस्को द्वारा संरक्षित टॉय ट्रेन के सोनादा रेलवे स्टेशन सहित सरकारी संस्थानों में आग लगा दी। इन प्रदर्शनकारियों ने कुर्सियोंग के अनुमंडलीय अधिकारी कार्यालय, गोरुबथान में रेंज कार्यालय और पुलिस के 2 वाहनों में आग लगा दी। इसके अलावा कलिम्पोंग में नियोरा रेंज आवास, कार्यालय और मिरिक में एक यातायात पुलिस चौकी में भी आगजनी की घटना को अंजाम दिया गया।

Filed in: पश्चिम बंगाल

No comments yet.

Leave a Reply