8:07 am - Friday September 22, 2017

दिल्ली : कोठा मालिकों के नाम समन, डीसीडब्ल्यू ने जीबी रोड में दिवारों पर चिपकाए

1

Blast News Editor Firoz Siddiqui ,9644670008

नई दिल्ली। दिल्ली महिला आयोग ने जीबी रोड के कोठों के असली मालिकों का पता लगाने के लिए गुरुवार को जीबी रोड पर जाकर कोठे संचालिकाओं को 125 सम्मन दिए। साथ ही जिन कोठों की संचालिकाओं ने सम्मन लेने से मना किया, मोबाइल हेल्पलाइन कॉर्डिनेटर किरण नेगी व प्रिंसी गोयल, लीगल कंसल्टेंट की अगुवाई में डीसीडब्ल्यू की टीम ने उन कोठों की दीवारों पर सम्मन चिपका दिए। दिल्ली महिला आयोग ने करीब 125 लोगों को सम्मन जारी किए हैं, जिन्हें 21 सितंबर से 25 सितंबर तक आयोग में पेश होना होगा।

दरअसल जीबी रोड मानव तस्करी का एक बड़ा अड्डा बना हुआ है। देश के दूर-दराज और गरीबों के इलाकों से छोटी-छोटी बच्चियों की तस्करी करके उन्हें जीबी रोड पर लाकर बेच दिया जाता है। आयोग के अनुसार वहां 30-30 लोग इन बच्चियों का रोज शोषण करते हैं। इन कोठों के असली मालिकों का पता नहीं चल पाता है जिससे कार्यवाही के दौरान सिर्फ कोठे के संचालक व संचालिका पकड़े जाते हैं। असली मालिक कानून के शिकंजे से छूट जाते हैं। असली मालिक नहीं पकड़े जाने से जीबी रोड पर कोठे चल रहे हैं और बदस्तूर छोटी बच्चियों का शोषण जारी है।बच्चियों एवं महिलाओं के शोषण को रोकने के लिए दिल्ली महिला आयोग ने गुरुवार से जीबी रोड पर कोठों के असली मालिकों का पता लगाने के लिए यह मुहिम शुरू की। दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस, बिजली विभाग, जल बोर्ड एवं एसडीएम, सहित अन्य विभागों को नोटिस जारी कर कोठों के असली मालिकों का पता लगाने उनके नाम मांगे थे। जिस पर दिल्ली महिला आयोग को विभागों से कोठों के अलग अलग मालिकों के नाम मिले हैं, जिसके आधार पर आयोग ने यह मुहिम शुरू की है। अब सब को डीसीडब्लू ने आईडी प्रूफ लेके आने को कहा गया है।
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने कहा कि संसद से तीन किलोमीटर पर यह गोरखधंधा चलता है। सिस्टम की मिली भगत से चलता है। चाहे कुछ भी हो जाए डीसीडब्लू कोठे के असली मालिकों तक पहुंच कर कोठे बंद करवाकर और महिलाओं का पुनर्वास करके रहेगी। यह उस ओर पहला कदम है।

Filed in: टॉप 10, दिल्ली

No comments yet.

Leave a Reply