1:02 am - Wednesday February 21, 2018

दिल्ली सरकार की जांच में मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल दोषी, 7वें दिन नवजात की हो गई मौत

vनई दिल्ली| दिल्ली के मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल द्वारा 30 नवंबर को गलती से मृत घोषित किए गए समय से पूर्व जन्मे 22 सप्ताह के बच्चे की बुधवार को मौत हो गई। बच्चे के परिजनों ने मैक्स अस्पताल के चिकित्सकों को लापरवाही बरतने के आरोप में गिरफ्तार करने की मांग की है। बच्चे का इलाज उत्तरी दिल्ली के अग्रवाल नर्सिग होम में चल रहा था, जहां उसकी मौत हो गई। बच्चे के पिता आशीष कुमार ने इस बात की पुष्टि कर दी है।

उन्होंने आईएएनएस को बताया, “चिकित्सकों ने दोपहर 12 बजे हमारे बच्चे को मृत घोषित कर दिया। हालांकि हम बच्चे का शव तब तक प्राप्त नहीं करेंगे, जब तक मैक्स अस्पताल के चिकित्सकों को गिरफ्तार नहीं किया जाता। मैक्स अस्पताल के चिकित्सकों ने एक सप्ताह पहले बच्चे को मृत घोषित कर दिया था।”

blast-newsउन्होंने कहा कि परिवार के सदस्य मांग पूरी नहीं होने तक प्रदर्शन करेंगे।

दिल्ली सरकार की प्रारंभिक जांच में उत्तरी दिल्ली स्थित शालीमार बाग के मैक्स अस्पताल को दोषी पाया गया था। जांच में पाया गया कि अस्पताल द्वारा 22 सप्ताह के समय से पहले नवजात शिशु के साथ व्यवहार करने में निर्धारित चिकित्सा मानदंडों का पालन नहीं किया गया, जिसके कारण उसे 30 नवंबर को मृत घोषित कर दिया गया, जबकि बच्चा उस वक्त जिंदा था।

Filed in: टॉप 10, दिल्ली, बड़ी खबर, राज्य

No comments yet.

Leave a Reply