11:53 am - Thursday April 19, 2018

पुलवामा में CRPF कैंप पर आतंकवादी हमला, 4 जवान शहीद,जैश-ए-मोहम्मद ने ली जिम्मेदारी

blast-newsनई दिल्ली:  जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों द्वारा लेथपोरा के केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) ट्रेनिंग सेंटर पर हुए फिदायीन हमले में अब तक 4 जवान शहीद हो गए हैं।

वहीं सुरक्षा बलों द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकी भी मारे गए हैं।

आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच अभी भी मुठभेड़ जारी है। इस मुठभेड़ में सात जवान घायल हुए हैं, जिसमें चार शहीद हो गए है और तीन घायल हैं।

सीआरपीएफ के जनसंपर्क अधिकारी भवनेश ने बताया कि शहीद जवानों मे से तीन जवान की गोलीबारी से और एक जवान की हार्ट अटैक के कारण मौत हुई है।

उन्होंने कहा कि अब तक तीन आतंकियों को मार गिराया है हालांकि एक आतंकी अभी भी छुपा हुआ है। इस ट्रेनिंग कैंप में सीआरपीएफ 185 बटालियन तैनात है।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस पी वैद्य ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि दोनों जवानों की हालत स्थिर बनी हुई है। जल्द ही सभी आतंकियों को मार गिराया जाएगा।

बताया जा रहा है कि रविवार रात करीब दो बज कर 10 मिनट पर आतंकियों ने ट्रेनिंग सेंटर पर हैंड ग्रेनेड फेंके और उसके बाद सुरक्षा बलों पर जबरदस्त फायरिंग शुरू कर दी।

सीआरपीएफ ने कहा, ‘इस बात की पूरी आशंका है कि दूसरे कैंपों में भी इस तरह के हमले हो सकते हैं।’

खबरों के मुताबिक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। आतंकी संगठन का कहना है कि उन्होंने यह हमला कमांडर नूर त्राली की मौत का बदला लेने  के लिए किया है।

बता दें कि नूर मोहम्मद तंत्रे उर्फ नूर त्राल, जैश-ए-मोहम्मद का डिविजनल कमांडर था, जिसे 26 दिसंबर को पुलवामा के समबोरा इलाके में हुई मुठभेड़ के दौरान मार गिराया गया था।

त्राली को 2003 में दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था और आतंकवाद अधिनियम की रोकथाम (पोटा) कोर्ट ने साल 2011 में उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, लेकिन बीच में मिली पैरोल के दौरान नूर मोहम्मद भाग खड़ा हुआ और उसने दोबारा आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हो गया।

Filed in: जम्मू और कश्मीर, टॉप 10, पॉलिटिक्स, बड़ी खबर, मुख्य समाचर

No comments yet.

Leave a Reply