8:02 am - Friday September 22, 2017

प्रद्युम्न मर्डर केस: सुप्रीम कोर्ट का केंद्र और राज्य सरकार समेत 4 को नोटिस

 2

Blast News Editor Firoz Siddiqui ,9644670008

नई दिल्ली : गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में अपने बेटे की क्रूर हत्या की जांच सीबीआई से कराने की पिता की याचिका पर उच्चतम न्यायालय ने केन्द्र, हरियाणा सरकार और सीबीएसई से जवाब मांगा। संक्षिप्त सुनवाई के दौरान पीठ ने कहा कि यह याचिका सिर्फ संबंधित स्कूल तक सीमित नहीं है क्योंकि इसका देशव्यापी प्रभाव है।  प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने इस तरह की घटनाओं के मामले में स्कूल प्रबंधन की जिम्मेदारी निर्धारित करने और स्कूल में बच्चों की सुरक्षा के लिए दिशानिर्देश बनाने के अनुरोध पर केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से भी जवाब मांगा है। बोर्ड को तीन सप्ताह के भीतर जवाब देना है।

बच्चे के पिता वरुण चन्द्र ठाकुर ने वकील सुशील टेकरीवाल के माध्यम से दायर याचिका में कहा है कि इस संबंध में स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच शीर्ष अदालत की निगरानी में सीबीआई से कराई जानी चाहिए। गुरुग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में आठ सितंबर को बच्चे का गला रेता हुआ शव मिला था।स्कूल के कंडक्टरों में से एक अशोक कुमार को इस सिलसिले में उसी दिन गिरफ्तार किया गया था। कुमार ने कथित रूप से बच्चे का यौन उत्पीड़न करना चाहा और इसी दौरान उसकी हत्या कर दी।

अग्रिम जमानत के लिए रेयान इंटरनेशनल स्कूल के CEO हाईकोर्ट पहुंचे 

रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रेयान पिंटो और स्कूल कें संस्थापक उनके माता—पिता ने गुरूग्राम में संस्थान के परिसर में सात वषीर्य छात्र की हत्या के सिलसिले में मुंबई उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका दायर की। रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दो बड़े अधिकारियों की गिरफ्तारी के बाद ये जमानत याचिकाएं दायर की गई हैं।

Filed in: बड़ी खबर, हरियाणा

No comments yet.

Leave a Reply