3:11 pm - Friday November 25, 1633

प्रद्युम्न मर्डर केस: हत्या से पहले प्रद्युम्न के साथ जाते देखा गया आरोपी छात्र

3गुडगांव : प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई की टीम ने अहम खुलासा किया है. सीबीआई के मुताबिक स्कूल की गैलरी में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में आरोपी छात्र प्रद्युम्न के साथ बाथरूम की तरफ जाता दिख रहा है. यहां तक कि प्रद्युम्न के कंधे पर उसका हाथ भी दिख रहा है.

सीबीआई ने फुटेज के हवाले से खुलासा किया है कि वारदात के दिन आरोपी छात्र प्रद्युम्न के साथ बाथरूम में गया था. कुछ देर बाद वह अकेले ही बाथरुम से बाहर आता दिख रहा है. जबकि फुटेज में वारदात से पहले ही बस कंडक्टर को बाथरूम में जाते और बाहर निकलते देखा जा सकता है.

सीबीआई सूत्रों के मुताबिक एफएसएल हरियाणा ने चाकू की जांच की है और हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियार के रूप में उसकी पहचान भी कर ली है. सही बात ये है कि हत्या में प्रयुक्त चाकू सोहना की एक विशेष दुकान से खरीदा गया था.

गुरुवार की देर शाम को सीबीआई की टीम प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी छात्र को लेकर सोहना अनाज मंडी पहुंची और वहां चाकू बेचने वाले दुकानदार से आरोपी छात्र की पहचान करवाने की कोशिश भी की. हालांकि दुकानदार ने आरोपी छात्र को पहचानने से इनकार कर दिया.

दुकानदार ने सीबीआई के अधिकारियों से बताया कि दो महीने पहले उसकी दुकान पर किसने चाकू खरीदा, ऐसे उसे याद नहीं है. साथ ही उसकी दुकान के आस-पास कोई सीसीटीवी कैमरा भी नहीं लगा है. इसलिए वह इस बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं दे पाया.1

जब सीबीआई की टीम ने दुकानदार को वारदात में इस्तेमाल किए गए चाकू की फ़ोटो दिखाई, तो दुकानदार ने सीबीआई को बताया कि कुछ दिनों पहले वैसे चाकू उसने अपनी दुकान पर बेचे हैं. इसके बाद सीबीआई की टीम ने उसकी दुकान से करीब आधा दर्जन वैसे ही चाकू बतौर सैंपल खरीद लिए. जिनका भुगतान भी दुकानदार को किया गया.

उधर, सीबीआई के सूत्रों से पता चला कि प्रद्युम्न मर्डर केस की शुरूआती जांच में गुडगांव पुलिस की जल्दबाजी और लापरवाही के चलते ही बस कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बनाया गया था. यहां तक कि पुलिस ने ही हत्या में प्रयुक्त चाकू बताकर, वो हथियार भी प्लांट किया था.

उस वक्त गुड़गांव पुलिस ने दावा किया था कि आरोपी अशोक ने वह चाकू आगरा की किसी दुकान से खरीदकर बस की टूल किट में रखा था. वही चाकू वह स्कूल में लेकर गया था.

 

SOURCE BY AAJTAK

Filed in: जुर्म, टॉप 10, हरियाणा

No comments yet.

Leave a Reply