3:11 pm - Tuesday November 25, 1710

प्रद्युम्न मर्डर केस : CBI जांच में खुलासा- पुलिस ने सबूतों से की छेड़छाड़…

3नई दिल्ली: गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में प्रद्युम्न ठाकुर की मौत मामले में सीबीआई ने चौंकाने वाली बात कही है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक सीबीआई ने कहा कि प्रद्युम्न मर्डर केस में गुड़गांव पुलिस ने सबूतों के साथ छेड़छाड़ की थी. यहां गौर करने वाली बात यह है कि इस मर्डर की शुरुआती जांच में गुड़गांव पुलिस ने रेयान स्कूल के बस कंडक्टर अशोक को आरोपी बनाया था. वहीं प्रद्युम्न के परिजनों की जिद्द पर शुरू हुई सीबीआई जांच में पुलिस की थ्योरी बिल्कुल गलत साबित हुई. सीबीआई ने अशोक को मामले में क्लीनचिट दे दी और स्कूल के ही 11वीं के छात्र को हत्या का आरोपी बनाया है. जांच और आरोपी छात्र के पूछताछ के आधार पर सीबीआई ने कहा है कि आरोपी छात्र ने परीक्षा की डेट टलवाने के लिए प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या की थी.
प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच में लापरवाही और सबूतों से छेड़छाड़ की शिकायत सीबीआई हरियाणा के डीजीपी को चिट्ठी भी लिख सकती है. ऐसे में गुड़गांव पुलिस के अफसरों पर कार्रवाई भी हो सकती है.

शनिवार को जुवेनाइल कोर्ट (किशोर अदालत) में आरोपी छात्र की पेशी के बाद उसके पिता ने आरोप लगाया कि जांच एजेंसी के अफसरों ने उनके बेटे के साथ बेहद क्रूर बर्ताव किया. कहा कि उनके बेटे को उलटा लटाकाकर पीटा गया. हालांकि सीबीआई ने सभी आरोपों को खारिज किया है. आरोपी छात्र के पिता ने कहा, ‘मेरे बेटे को प्रताड़ित किया गया. उसे उलटा लटकाकर पीटा गया. मेरा बेटा निर्दोष है. क्या आप यह सोच सकते हैं कि 11वीं का छात्र किसी का मर्डर करने के बाद इतने दिनों तक सामान्य व्यवहार कर सकता है.?’
123
प्रद्युम्न मर्डर केस में आरोपी छात्र के पिता ने कहा, ‘स्कूल के पीटीएम में सभी टीचरों ने उनके बेटे की काफी तारीफ की थी, मेरा बेटा पढ़ने में काफी अच्छा है, उसकी मार्कशीट सारी कहानी बयां कर रही है.’ उन्होंने ये बातें सीबीआई की उस दलील को झुठलाने के लिए कही, जिसमें कहा गया है कि आरोपी छात्र पढ़ने में काफी कमजोर था और परीक्षा की डेट बढ़वाने के लिए उसने प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या कर दी थी.

इससे पहले गुरुग्राम की जुवेनाइल कोर्ट ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार एक किशोर को 22 नवंबर तक के लिये शनिवार को निरीक्षण गृह (रिमांड होम) भेज दिया. सीबीआई सूत्रों ने बताया कि अदालत ने मामले में सुनवाई की अगली तारीख 22 नवंबर निर्धारित की है. उन्होंने बताया कि इससे पहले दिन में गिरफ्तार किशोर को सीबीआई स्कूल ले गई ताकि अपराध का नाटकीय रूपांतरण किया जा सके. वह स्कूल में 11 वीं कक्षा का छात्र था.

सूत्रों ने बताया कि टीम आरोपी के साथ दोपहर के करीब स्कूल पहुंची और तीन घंटे से अधिक समय तक वहां रहीं. उसके बाद उसे किशोर अदालत ले जाया गया जहां मामले में सुनवाई होने वाली थी.

सूत्रों ने बताया कि टीम ने किशोर से कहा कि वह आठ सितंबर को हुई घटना को स्पष्ट करे जब स्कूल की दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न की कथित तौर पर उसने हत्या कर दी थी. उससे घटना की समूची कड़ी को स्पष्ट करने को कहा गया. उससे उस दिन हुई छोटी-छोटी बातों का ब्योरा देने को कहा गया. टीम ने प्रमाणित करने की कवायद के तहत विभिन्न माप ली और समय रिकॉर्ड किया जो अपराध को करने के लिये जरूरी था. ऐसा आरोपी के दावे का पता लगाने के लिये किया गया.

उसने कैसे कथित तौर पर प्रद्युम्न की हत्या की इस बात को जानने के लिये सीबीआई अधिकारियों ने सॉफ्ट टॉय के रूप में एक डमी का भी इस्तेमाल किया. इस बीच, किशोर के पिता ने आरोप लगाया कि सीबीआई उनके बेटे को यातना दे रही है. इसका एजेंसी ने जोरदार खंडन किया.

सूत्रों ने बताया कि किशोर अदालत ने एक स्वतंत्र कल्याण अधिकारी की नियुक्ति की है ताकि जांच और गिरफ्तार छात्र से पूछताछ की निगरानी की जा सके. उन्होंने कहा कि अधिकारी पूछताछ सत्र और आरोपी को किसी स्थान पर ले जाने के दौरान उपस्थित रहता है.1

सूत्रों ने बताया कि एजेंसी हत्या के मामले में सभी पहलुओं और संभावनाओं का विश्लेषण करने का प्रयास कर रही है. प्रद्युम्न गत आठ सितंबर की सुबह रेयान इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में मृत पाया गया था. उसका गला रेता हुआ था. यह घटना उसके पिता के उसे स्कूल छोड़ने के एक घंटे के भीतर हुई थी. गुरुग्राम पुलिस ने हत्या का ठीकरा स्कूल के बस कंडक्टर पर फोड़ते हुए उसे गिरफ्तार किया था.

इस मामले ने तब नाटकीय मोड़ लिया जब सीबीआई ने हाल में घोषणा की कि उसने प्रद्युम्न की हत्या के सिलसिले में स्कूल में ही 11 वीं कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र को गिरफ्तार किया है. उसने गुरुग्राम पुलिस की पूरी थ्योरी को नकार दिया जिसमें उसने कहा था कि प्रद्युम्न की हत्या स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार ने की थी.

 

Filed in: जुर्म, टॉप 10, बड़ी खबर, हरियाणा

No comments yet.

Leave a Reply