12:50 am - Saturday April 21, 2018

” भाजपा नेताओं में दिखे मतभेद…..मुखिया का मंच पोला “

(अनुराग उपाध्याय )

कांकेर : छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री अपने एक दिवसीय प्रवास पर पहुंच रहे हैं जहां वो दो महत्वपूर्ण कार्यक्रमों में शिरकत कर वापस रायपुर रवाना हो जायेंगे लेकिन साहू समाज अपने समाज के दा्रा आयोजित कर्मा महोत्सव को लेकर उत्साहित है पर टेंट व अन्य सुविधा को लेकर ” नाराज़ ” दिखाई दे रहा है जिसके पीछे का कारण जानने की चेष्टा की गयी पर कुछ पदाधिकारीयों ने कुछ भी कहने से साफ इंकार कर दिया पर इतना कहा कि ” हमारे समाज का पदाधिकारी भाजपा का जिला अध्यक्ष है पर टेंट की जो व्यवस्था है वह कितनी बेहतर है यह बताने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि प्रशासन एक के साथ मां तो दुसरे के मौसी का व्यवहार कर रही है और भाजपा जिला अध्यक्ष ने कार्यक्रम पर किसी भी प्रकार की सहायता नहीं की है “
कर्मा महोत्सव का आयोजन जिस मंच पर हो रहा है वह काफी घटिया है जहां से भ्रष्टाचार की बूं आ रही है तो दूसरी ओर मंच एक हाथ पोला है जो कभी भी धंस सकता है उसे PWD विभाग के जिम्मेदार अधिकारी मात्र रेत के माध्यम से भ्रष्टाचार को पाटने का कार्य कर रहे है जिसे लेकर भी समाज के लोगों में नाराज़गी दिखाई दी ”
मंच पर आई व दिखी दरार व पोला को लेकर मत्स्य कल्याण बोर्ड के चेयरमैन माननीय भरत मटियारा ने वहां उपस्थित अधिकारीयों को जमकर फटकार लगाते हुये कहा कि ” इस मंच की स्थिति ठीक नहीं है और यहां कल मुख्यमंत्री जी आ रहे है पहले मंच को देखना था कि फिर यहां बडा़ कार्यक्रम की हामी भरनी थी लेकिन मंच को देखने के बाद यह दावा करना गलत है कि मंच ठीक है लेकिन यहां मंच के नीचे लंबे – लंबे पोला व दरारो को पहले ठीक करना था फिर यहां की अनुमति देनी थी ” !
तो वहीं इस मामले पर साहू समाज के कुछ जिम्मेदार लोगों से इस मसले पर बातचीत करने की कोशिश की गयी पर उन्होनें कुछ भी कहने से इंकार करते हुये कहा कि ” राजनीति के शिकार हो गये जिला अध्यक्ष हमारे समाज का पर क्या करें दोनों कार्यक्रम में साफी अंतर है उसके बाद भी भीड़ हमारे समाज में ज्यादा रहेगी ” !

किनारे किये गये समाज से….

कल होने वाले कर्मा महोत्सव को लेकर राजनैतिक उपेक्षा के शिकार के कारण जिला अध्यक्ष को नवनियुक्त साहू समाज के पदाधिकारीयों ने फिलहाल कल के कार्यक्रम सें उन्हें ” किनारा ” कर दिया है ताकि अनुशासनहीनता का आरोप ना लगे और यह पूरा कार्यक्रम समाज का है तो फिर समाज के प्रमुख पदाधिकारी ही उपस्थित रहेंगे लेकिन जिनका कोई योगदान नहीं है वो कैसे प्रमुख बनेगा ” मुख्यमंत्री ” के सामने ..यह आरोप समाज के कुछ जिम्मेदार पदाधिकारी की है ! उनका यह भी कहना है कि ” कल मुख्यमंत्री को इस पूरे मामले पर समाज शिकायत कर सकता है ताकि समाज के प्रति जिला अध्यक्ष की कितनी निष्ठा है यह पता चले ” !

शासकीय विज्ञापन कमल सदन से….

भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जनजाति एवं अनु. जाति मोर्चा का विज्ञापन जो विभिन्न समाचार पत्रों मे प्रकाशित हुआ है वह कमल सदन से जारी किया गया है जबकि यह पूरी व्यवस्था जिले के विभिन्न अधिकारी के जिम्मे है इनका payment भी विभाग के अधिकारी के जिम्मे है इनकी पूरी जानकारी गोपनीय तरीके से बनाया गया है जबकि कमल सदन से जारी होने की ” खबर ” किसने लिक की यह महत्वपूर्ण विषय है !

Filed in: इंडिया, छत्तीसगढ़, टॉप 10, पॉलिटिक्स, बड़ी खबर, रायपुर

No comments yet.

Leave a Reply