3:13 pm - Thursday December 17, 6640

राशनकार्ड बनाने में हो रही लापरवाही विकास उपाध्याय के साथ पार्षदों ने कलेक्ट्रेट में दिया धरना

20171119_114838रायपुर: राशनकार्ड बनाने में हो रही दिक्कत एवं राशन दुकान ने हो रहे राशन की अफरातफरी,मजदूर कार्ड बनाने में आवेदकों से ही रही वसूली,2011 की मतगणना सूची की अनुपलब्धता,सामान्य राशन कार्ड बनाना एवं राशन देंने, सुराज अभियान के दौरान प्राप्त आवेदन का निराकरण नही हो पाना, बन्द हो चुके पात्र हितग्रहियों का सत्यापन कर राशनकार्ड जारी नही करने से नाराज कांग्रेस पार्षदों ने शहर अध्यक्ष विकास उपाध्याय के साथ कलेक्टर ऑफिस के सामने धरना दिया।पार्षदों के धरना की खबर मिलते ही जिला कलेक्टर ऑफिस छोड़कर बाहर निकल गये।दो घण्टा धरना के बाद प्रदर्शनकारियों को कार्यलय में कलेक्टर मौजूद नही होने की खबर मिली अधिकारी के चले जाने से नाराज प्रदर्शनकारियों ने ऑफिस के सामने लेट कर प्रदर्शन किया तब कलेक्टर की अनुपस्थिति में जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी चर्चा करने आये लेकिन प्रदर्शनकारी कलेक्टर को बुलाने की मांग करने लगे।blast-newsकलेक्टर से चर्चा के लिये अड़े प्रदर्शनकारियों से जिला प्रशासन की ओर से एडीएम ने चर्चा किया चर्चा में तय हुआ कि राशनकार्ड सम्बंधित समस्याओ के निराकरण करने सभी वार्डो के पार्षद के साथ जिला प्रशासन, निगम और खाद्य विभाग के अधिकारी एक साथ चर्चा करेंगे।प्रदर्शनकारियों ने मौखिक आश्वासन के बजाये लिखित में मिलने पर धरना खत्म करने की बात कही लिखित में आश्वाशन देने की बात स्वीकार कर लिखित में पत्र लाने गये अधिकारी का प्रदर्शनकारी इंतजार करते रहे है लेकिन आधे घण्टे तक ना पत्र आया ना अधिकारी इससे गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने फिर धरना शुरू कर दिया इस दौरान वहाँ मौजूद पुलिस के अधिकारी दोबारा उच्च अधिकारी को बुलाकर प्रदर्शनकारियों से चर्चा कराये चर्चा करने आये अधिकारी ने प्रदर्शनकारियों से इतना ही पूछना था क्या मामला है प्रदर्शनकारी अधिकारी के ऊपर भड़क गये औऱ कहने लगे यही स्थिति राशनकार्ड बनवाने वालों के साथ भी होती है पहले दिन नियुक्त अधिकारी आवेदक से कुछ कागजात मांगता है दूसरे दिन दूसरा अधिकारी कुछ कागजात मांगता है जिसके कारण राशनकार्ड बनवाने वालो को परेशानियों का सामना करना पड़ता है जब जन प्रतिनिधियों के साथ उच्च अधिकारियों का बर्ताव इस तरह है तो इनके अधीनस्थ कर्मचारियों का व्यवहार जनता के साथ कैसा होगा इस बात से अंदाज लगाया जा सकता है।अंत मे अधिकारी ने 12 दिसम्बर को 12 बजे निगम के सामान्य सभा हाल में सभी पार्षदों के साथ बैठक करने का लिखित आश्वाशन दिया तब कहीँ जा कर प्रदर्शन कारी धरना से उठे।शहर अध्यक्ष विकास उपाध्याय ने कहा कि जब से राज्य में भाजपा की सरकार बैठी है तब से लेकर आज तक राशनकार्डधारियों को दो वक्त का निवाला मिलने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।उन्होंने कहा पिछले विधानसभा चुनाव के ठीक पहले सभी पात्र लोगों का राशनकार्ड को  दिया गया था लेकिन चुनाव जीतते ही सभी का राशनकार्ड को निरस्त कर दिया गया ।राशनकार्डधारियों की मजबूरी का उपहास राज्य की भाजपा सरकार उड़ा रही है।मजदूर कार्ड बनाने के नाम स्व भाजपाइयों ने दुकान सजा रखा मजदूरों के कार्ड बनाने के लिए उनसे अनैतिक तरीके से दो हजार रुपये की वसूली की जाती है।उन्होंने जिला प्रशासन को राशनकार्ड बनाने में हो रही परेशानी दूर करने व मज़दूरकार्ड के नाम से हो रहे वसूली को बन्द करने की मांग कि। धरने में विकास उपाध्याय, श्री कुमार मेनन, समीर अख्तर,विमल गुप्ता, अन्नू साहू रामदास कुर्रे,सन्दीप साहू,जीतू भारती, विमल गुप्ता,अमित दास, मोहित धृतलहरे,देवेंद्र यादव ,तरुण श्रीवास् हीरेन्द्र देवांगन धनंजय सिंह ठाकुर अजीज भिंसरा, गजेंद्र पांडेय एवं कांग्रेसजन उपस्थित थे।

Filed in: छत्तीसगढ़, टॉप 10, पॉलिटिक्स

No comments yet.

Leave a Reply