3:11 pm - Thursday November 25, 1424

विद्यालय में शिक्षा, प्यार दुलार की जगह गुरूजी ने बच्चे को जड़ा थप्पड़

श्रावस्ती(प्रदीप गुप्ता)। बाल दिवस के दिन अध्यापक ने छात्र की निर्ममता पूर्ण की पिटाई बड़ा सवाल प्रदेश सरकार जहाॅ एक तरफ बच्चो को प्यार और दुलार के माध्यम से उन्हे शिक्षा की ओर प्रेरित करती नजर आ रही है वही प्राइवेट विद्यालयों मे शिक्षको की बच्चो के साथ बर्बरता का मामला थमता नजर नही आ रहा है, बच्चे गुरू जी के बर्बरता का शिकार हो रहे है।मामला श्रावस्ती जिले के थाना सोनवा के श्री काशी विश्वनाथ इण्टरकालेज का है जहां पर बाल दिवस के दिन अध्यापक प्रमोद मिश्रा ने कक्षा 7 मे अध्ययनरत छात्र मन्नू सोनी उम्र 12 वर्ष की परीक्षा के दौरान पैड के गिरने की आवाज पर आग बबूला हो गए और मन्नू की लात घूसो से पिटाई करनी शुरू कर दी जिस पर चोटिल मन्नू अपनी जान बचाने के लिए क्लाश से निकलकर अपने बड़े भाई अनिल सोनी के पास पहुंचा जो घोरमापरसिया मे मोबाइल शाप की दुकान करता है और रो रोकर आप बीती बताई जिस पर अनिल सोनी ने प्रधानाचार्य से इसकी शिकायत की लेकिन प्रधानाचार्य ने एक न सुनी और बचाव करते हुए कहा कि प्रमोद मिश्रा अध्यापक विद्यालय में नही है। जिस पर अनिल सोनी ने थाना सोनवा पहुॅचकर तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। थाना प्रभारी ने मन्नू को मेडिकल के लिए सयुक्त जिला चिकित्सालय भिनगा भेज दिया और विधिक कार्रवाई करने का आश्वासन भी दिया। देखना यह होगा कि बाल दिवस के दिन यदि ऐसे कृत्य बच्चो के साथ शिक्षक करते रहेगे तो बच्चे की रूचि पर कुप्रभाव पड़ेगा जिस पर शासन प्रशासन को मामले को संज्ञान मे लेते हुए प्रभावी कार्रवाई करने की जरूरत है ताकि बच्चे पूरी मनोयोग के साथ अच्छी शिक्षा हासिल कर जिले का नाम रोशन करे।

Filed in: उत्तर प्रदेश

No comments yet.

Leave a Reply