1:00 am - Friday April 20, 2018

सरकार ने भूमि संसोधन बिल आदिवासी समाज और कांग्रेस के दबाव में लिया वापस : दीपक बैज

bhaiचित्रकोट  : अपने पदयात्रा के 17 वे दिन विधायक चित्रकोट दीपक बैज गडदा पहुंचे और ग्रामीणों की सभा को संबोधित करते हुए कहा- भाजपा सरकार शीतकालीन सत्र में जिस प्रकार आदिवासियों को जमीन से बेदखल करने का षडयंत्रपूर्वक बहुमत के दम पर विधानसभा में प्रस्ताव पास किया।लेकिन कांग्रेस के आदिवासी व सभी विधायको ने जमकर इसका विरोध किया।और आज बिल के विरोध में कांग्रेस और आदिवासी समाज लगातार लामबंद होते देख सरकार ने दबाव में इस बिल को वापस लिया जो कि आदिवासी समाज और कांग्रेस की बड़ी जीत है।जब सरकार के इस बिल के विरोध में जनता के बीच जाने लगे तो भाजपा को चुनाव में हार का डर दिखने लगा जिससे बिल को वापस लिया।इससे इनके संकीर्ण मानसिकता का पता चलता है।
इसके साथ ही भाजपा नेताओं पर तंज कसते हुए कहा-एक इस बिल का विरोध नही कर पा रहे थे,बिल वापस होने पर बाजा भी खुद बजा रहे और नाच भी खुद रहे है।bhai
फिर पैदल यात्रा का काफिला खेत और कच्चे रास्ते से होते हुए तोयर पहुचा।तोयर में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा-*पिछले पैदल यात्रा में मैं बोलकर गया था,जब तक इस गांव बिजली नही लगेगी ,चुनाव में कदम नही रखेंगे।इसीलिए आज किनारे से चलकर आया हु,लेकिन आपके लिए सौगात लेकर आया हु,बिजली का कार्य स्वीकृत हो चुका है ,फरवरी से बिजली का चालू भी हो जायेगा।
बिजली लगने की बात सुनकर ग्रामीणों की चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गयी,ताली बजाकर विधायक चित्रकोट को धन्यवाद देते हुए ग्रामीणों व सरपंच ने पानी टैंकर और गांव गुड़ी के आर्थिक मदद मांगी।विधायक चित्रकोट ने मांग पूरी करते हुए पानी टैंकर और गुड़ी के लिये 30,000 रु देने की घोषणा की।broi
इसके बाद पैदल यात्रा का काफिला आगे बढ़ते हुए गुमियापाल पहुंचा,जहा सभा में विधायक चित्रकोट दीपक बैज बोले- आपके गांव में बिजली की समस्या थी और हमने कहा था अगले पैदल यात्रा से पहले बिजली का काम शुरू होगा ,और आज काम हुआ है।आश्रम शाला के बच्चों ने पानी की समस्या बताई,हमने हफ्ते भर में पानी की समस्या को दूर किया।

पिछला वादा जो पूरा हुआ

धाकड़ पारा में गणेश मंडली की स्वीकृति और भूमिपूजन।

तोयर में फरवरी से बिजली का काम शुरू।

बड़े गुमियापाल में बिजली का कार्य शुरू

आश्रम शाला में पानी की व्यवस्था

आज की गई घोषणा

ग्रामीणों की मांग पर तोयर में पानी टैंकर ।

ग्राम गुड़ी के लिए 30,000 रु आर्थिक मदद।

माध्यमिक शाला में बच्चों के बैठने के लिए फर्नीचर ।

बड़े गुमियापाल में ग्राम गुड़ी के लिए 30,000 रु की आर्थिक मदद।

शिक्षक की व्यवस्था करे या तो मेरे तनख्वाह से ले पैसा-दीपक बैज

पैदल यात्रा के दौरान गडदा पहुचे विधायक चित्रकोट दीपक बैज एक शिक्षक का दायित्व निभाते हुए प्राथमिक और माध्यमिक शाला में बच्चों के कक्षाएं ली। प्राथमिक शाला के बच्चे पढ़ाई में कमजोर थे।
जिसपर विधायक चित्रकोट ने बी ई ओ को निर्देशित करते हुए कहा – दो दिनों में प्राथमिक शाला में शिक्षक या अतिथि शिक्षक की व्यवस्था करे ,अगर सरकार के पास पैसे नही है ,तो मेरे तनख्वाह से पैसे लेकर अतिथि शिक्षक नियुक्त करे।

इस दौरान बलराम मौर्य,लक्ष्मण कश्यप,मालती बैज,सुबति मंडावी,बालो बघेल,बासु नाग,पल्लव यादव,अभिषेक डेविड,केदार ढेक,सदन ,रमेश ,हौंडा ,यशवंत ठाकुर,रामसिंग,कमल ,गन्नू ठाकुर,रमेश ठाकुर,बुधराम,सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Filed in: छत्तीसगढ़, टॉप 10

No comments yet.

Leave a Reply