6:31 pm - Wednesday July 26, 2017

सावन में पूजा करने वाले भूलकर भी न करें ये काम,नाराज हो सकते हैं भगवान शिव

72-amul_0सावन का महीना शुरु हो चुका है। आज सावन का पहला सोमवार है। आज के दिन पूरे विधि-विधान से भगवान शिव की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है कि यह महीना भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए सबसे पवित्र है।

इस महीने भोलेनाथ की पूजा करने से वे प्रसन्न होते हैं, वहीं कई ऐसे काम है जिसे करने से भगवान शिव नाराज भी हो जाते है। इसलिए आपको आज बता रहे हैं कुछ ऐसी बातें जो आपको सावन में करने से बचना चाहिए।

दूध और दूध से बनी चीजों का इस्तेमाल न करें-
ऐसा माना जाता है कि सावन दूध, दही, छाछ आदि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। कई लोग तो सावन में दही और छाछ की बनी कढ़ी भी त्याग देते है। ऐसा इसलिए क्योंकि भोलेनाथ तो भक्तों की रक्षा के लिए विषपान भी कर चुके हैं, इसलिए सावन में जो चीज आपके लिए हानिकारक है। यानी दूध, उसे भगवान शिव पर चढ़ाया जाता है। सावन में शिव का दूध से अभिषेक करने से शिव खुश होते हैं।

इसका वैज्ञानिक कारण भी है कि इस महीने में पाचन प्रक्रिया बिगड़ जाती है तो दूध और इससे बनी कोई भी चीज भारी होती है। इसलिए यह पच नहीं पाती है। इससे पेट संबंधी रोग होनी की संभावना होती है।

परिवार में न करें झगड़े

ऐसा कहा जाता है कि भगवान वहीं बसते हैं जहां प्यार होता है। यह महीना वैसे तो शिव और गौरी के परिवार को समर्पित है। इसलिए इस माह में परिवार में किसी भी तरह का झगड़ा करने से बचना चाहिए। इसके अलावा अपने जीवनसाथी को बुरा न बोलें। इस शिव जी नाराज हो जाते है। यह महीना दांम्पत्य जीवन में खुशियां लाता है।

नॉनवेज त्याग दें-
यह तो आपने अक्सर सुना होगा कि कई लोग सावन में नॉनवेज को छूते तक नहीं है। ऐसा कहा जाता है कि इस महीने में नॉनवेज खाने से मन अशांत रहता है और कोई भी काम ठीक से नहीं होता है।

सवेरे करें शिव का ध्यान-
ऐसा कहा जाता है कि सुबह-सुबह शिव का ध्यान करने से शिव जी प्रसन्न हो जाते है। इसके अलावा आपसे जितना हो सके उतना कम सोएं। खास तौर पर दिन में सोने से परहेज करना चाहिए। अगर बहुत जरूरी है तो तभी सोएं वो भी आधे घंटे के लिए। खाली समय है तो भोलेबाबा का ध्यान करें।

अपने से कमजोर लोगों न सताएं-
गरीब, वृद्ध, दुर्बल और जानवरों को न सताएं। इससे शिव को कष्ट पहुंचता है और उन्हें क्रोध आता है। साथ ही शिवभक्तों का अपमान न करें।

पैकेट वाला दूध अर्पित करने से करें परहेज-
ज्योतिष शास्त्र में दूध को चंद्र ग्रह से संबंधित माना गया है क्योंकि दोनों की प्रकृति शीतलता प्रदान करने वाली होती है। चंद्र ग्रह से संबंधित समस्त दोषों का निवारण करने के लिए सोमवार को महादेव पर दूध अर्पित करें। समस्त मनोकामनाओं को पूर्ण करने के लिए शिवलिंग पर गाय का कच्चा दूध अर्पित करें। ताजा दूध ही प्रयोग में लाएं, डिब्बा बंद अथवा पैकेट का दूध अर्पित न करें।

Filed in: कला-धर्म

No comments yet.

Leave a Reply