3:16 pm - Saturday January 20, 6035

सोपोर के मेन बाजार में आतंकवादियों ने किया IED ब्‍लास्‍ट, 4 पुलिसकर्मी शहीद, 2 घायल

blast-newsश्रीनगर । जम्‍मू कश्‍मीर के सोपोर व बारामुला में आतंकियों ने हमला किया है। आतंकी हमले में न पुलिसकर्मी के शहीद होने की सूचना है। मिली जानकारी के अनुसार सोपोर इलाके में आतंकियों ने आईईडी लगा कर ब्‍लास्‍ट किया है जिसमें दो  पुलिसवाला भी घायल हो गया है ।

जम्मू कश्मीर के सोपोर में आतंकियों ने एक बार फिर हमला कर दिया। आतंकियों ने शनिवार की सुबह आईईडी ब्लास्ट किया। पीटीआई के मुताबिक इस आतंकी हमले जहां 4 पुलिसकर्मी शहीद हो गए तो वहीं दो गंभीर रूप से घायल हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह ब्लास्ट सोपोर के गोल मार्केट में किया गया। पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) मुनीर खान ने बताया कि हमले में चार पुलिसकर्मियों की मौत हुई है। इसके अलावा यह भी जानकारी दी कि आईईडी को एक दुकान के नीचे लगाया गया था, इस ब्लास्ट में तीन दुकानें बुरी तरह से बर्बाद हो गई हैं।

इससे पहले भी 31 दिसंबर 2017 के दिन आतंकियों ने पुलवामा स्थित सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर पर हमला कर दिया था। जिसमें पांच सैनिक शहीद हुए थे। वहीं सेना ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए दो आतंकियों को ढेर किया था। आतंकियों ने सेंटर पर ग्रेनेड से हमला किया था। आतंकवादियों ने 31 दिसंबर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 185वीं बटालियन के शिविर पर हमला किया था।blast-news

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के हाथों करारा आघात लगने के बाद पाकिस्तान फिलहाल शांत था, लेकिन पुराने रिकॉर्ड पर गौर करें तो पड़ोसी देश की नीयत का भरोसा नहीं किया जा सकता है। यह सीमांतवासी और सीमा सुरक्षा बल भी जानते हैं। ऐसे में इस शांति को तूफान से पहले की खामोशी मानकर बीएसएफ पूरी तरह तैयार कर रही थी तब तक यह घटना घट गई।

सीमा सुरक्षा बल ने अपनी सभी चौकियों को अलर्ट पर रखा है और दुश्मन की खामोशी को उसकी किसी साजिश का हिस्सा माना जा रहा है। पहले भी कई बार मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान ने कुछ दिन खामोश रहकर फिर आग उगली है। सूत्रों के अनुसार जानमाल के भारी नुकसान से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। वह बदला लेने के लिए उचित समय का इंतजार कर रहा था।

पाकिस्तानी रेंजर्स की मौत से पाकिस्तानी सेना में भी रोष है। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के सैन्य अधिकारियों ने सियालकोट क्षेत्र में एक बैठक भी की है। इसमें सीमा सुरक्षा बल की कार्रवाई को लेकर कोई विशेष योजना बनी है। खुफिया एजेंसियों ने ऐसे कुछ संदेश पकड़े हैं, जिनमें पाकिस्तान ने अपने सीमांत क्षेत्र के लोगों को कुछ दिनों तक सतर्क रहने की हिदायत दी है। ऐसे में सीमा पार से अचानक गोलीबारी हो सकती है। इसलिए बीएसएफ पूरी तरह सतर्क है। पाकिस्तान पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

Filed in: जम्मू और कश्मीर, जुर्म, टॉप 10, बड़ी खबर, मुख्य समाचर

No comments yet.

Leave a Reply