8:10 am - Friday September 22, 2017

1000,500 के बंद नोटों को गिनने के लिए RBI ने किया इन खास मशीनों का इस्तेमाल

2नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) का कहना है कि उसके किसी भी कार्यालय में 500 और 1000 रुपये के अप्रचलित नोटों की गिनती के लिए गिनती मशीनों का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। साथ ही केंद्रीय बैंक ने नोटों की गिनती के लिए तैनात कर्मियों की संख्या बताने से इनकार कर दिया है। सूचना के अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत मांगे गए जवाब से इस बात की जानकारी हुयी।

हाइटेक मशीन से गिने जा रहे हैं नोट
हालांकि देर शाम जारी एक स्पष्टीकरण में केंद्रीय बैंक ने कहा कि वह मुद्रा नोटों की असलियत व संख्यात्मक सटीकता की जांच के लिए मुद्रा सत्यापन व प्रसंस्करण (sophisticated Currency Verification and Processing – CVPS) मशीनों का इस्तेमाल कर रहा है।

केंद्रीय बैंक ने एक बयान में कहा है, ये मशीनें नोट गिनने वाली मशीनों से कहीं बेहतर हैं। प्रसंस्करण क्षमता को मजबूत बनाने के लिए आरबीआई उपलब्ध मशीनों का इस्तेमाल दो पारियों में कर रहा है। इसके साथ ही वह कुछ वाणिज्यिक बैंकों से अस्थाई तौर पर ली गई मशीनों का उपयोग भी कर रहा है। बैंक अपनी प्रसंस्करण क्षमता को बढ़ाने के लिए अन्य विकल्पों पर भी विचार कर रहा है।

नहीं हुआ सामान्य नोट गिनने वाली मशीन का इस्तेमाल
इससे पहले आरबीआई ने एक आरटीआई के जवाब में कहा, ‘500 और 1000 रुपये के नोटों की गिनती के लिए बैंक के किसी भी कायार्लय में मशीन का इस्तेमाल नहीं किया गया है।’ बैंक ने बताया कि इस काम के लिए पट्टे पर भी कोई मशीन नहीं ली गयी थी। 10 अगस्त को दायर आरटीआई में नोटों की गिनने के लिए कितनी मशीनों का इस्तेमाल किया गया था, इस बात की जानकारी मांगी गयी थी।

वहीं, आरबीआई ने इस बात की जानकारी देने से इनकार कर दिया कि नोटों को गिनने के लिए कितनी कर्मचारियों को लगाया गया था। आरटीआई के जवाब में बैंक ने कहा कि आरटीआई अधिनियम, 2005 की धारा 7 (9) के अनुसार यह जानकारी नहीं दी जा सकती है।

Filed in: व्यापार

No comments yet.

Leave a Reply