3:16 pm - Friday January 20, 5319

केदार कश्यप : जनअदालत लगा अफ़सर को जूते मारने और ऑफिस को जला देने की बात कही

1

Firoz Siddiqui,chief Editor,9644670008

रायपुर।छत्तीसगढ़ प्रदेश के दमदार आदिवासी शिक्षा मंत्री केदार कश्यप कल कोंडागांव में एक जनअदालत लगाकर जनता की समस्याओं का समाधन कर रहे थे, इसी दौरान एक ग्रामीण की अफ़सर के खिलाफ रिश्वत का मामला सामने आने पर मंत्री जी उत्तेजित हो गए और इस अफसर को जूते मारने और कार्यालय तक जला देने की बात कही गयी,ब्लास्ट न्यूज़ को शिकायत मिलने पर हमने सीधे उस अफ़सर को फोन लगाकर पूरी जानकारी लेने के लिए उनके मोबाइल नम्बर 9407775648बात की गई जिसकी पूरी रिकार्डिंग हम ब्लास्ट न्यूज़ में आपको सुना रहे है महाप्रबंधक इस आर इलमा ने स्वीकार किया कि मंत्री ने कल जूते मारने और कार्यालय जला देने की बात बोली थी,जिसकी शिकायत कलेक्टर को कर दी गयी है,इलमा ने स्वीकार किया है कि जनअदालत में मंत्री को ऐसा व्यहार नही करना चाहिए था।

 

..मंत्रीजी ने मुझे रेस्ट हाउस बुलाया…और मारने की धमकी दी… जुते भी निकाल लिया…बोले इसके आफिस में आग लगा दो…”। सूबे के कद्दावर मंत्री केदार कश्यप पर ये सनसनीखेज आरोप जिला उद्योग महाप्रबंधक एसआर एल्मा ने लगाया है। एल्मा ने इस बाबत कलेक्टर समीर विश्नोई को भी शिकायत की है। दरअसल….. आज मंत्री केदार कश्यप कोंडागांव के दौरे पर थे.. इसी दौरान एक कार्यकर्ता ने इस बात की शिकायत की… जिला उद्योग महाप्रबंधक पैसे की मांग करता है। इस बात पर बिफरे मंत्री केदार कश्यप ने महाप्रबंधक को तलब किया…। इसी दौरान जिला उद्योग महाप्रबंधक पर वो भड़क उठे। इसी मामले के बाद एल्मा ने आरोप लगाया है कि शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने उन्हें फोन कर रेस्ट बुलवाया और फिर वहां सभी कार्यकर्ताओं और अधिकारियों की मौजूदगी में उनकी बेइज्जती की। एल्मा ने आरोप लगाया कि

फोन कर मंत्रीजी ने उन्हें रेस्ट हाउस बुलवाया …मैं गया वहां जैसे ही उनके कक्ष में प्रवेश किया.. सभी कार्यकर्ता वहां बैठे हुए थे.. जैसे ही मैं इंट्री किया.. वो गुस्से में बोले,..आपने पांच हजार रुपया क्यों लिया.. किस बात का पैसा लगता है। मैंने इनकार किया कि तो बोले, नहीं तुमने लिया है.. फिर सामने वाले प्रुफ कराने लगे । जब वहां माहौल खराब होने लगा.. तो मैंने बोला है उसने रिक्वेस्ट किया तो मैंने बोला सीएएस के तौर लिया था.. वापस कर दूंगा। इसी बीच वो मुझे मारने पर उतारू हो गये .. मारने के लिए उन्होंने पैर से जूते निकाल लिये.. और कार्यालय में आग लगा देने को कहा… कार्यकर्ताओं से कहा अगर तुमलोग नहीं लगाओगे तो मैं लगा दूंगा। मेरी सभी लोगों की मौजूदगी में बेइज्जती की। वहां कई सारे अधिकारी भी थे। मैं खुद समाज का सचिव हूं.. इस मामले में समाज में चर्चा करूंगा। मैने निकलकर इस मामले में कलेक्टर साहब को जानकारी दी और सीनियर अधिकारी को भी बताया।

Filed in: छत्तीसगढ़, वीडियो

No comments yet.

Leave a Reply