5:33 pm - Thursday April 19, 2018

4 जनवरी को मनाया जाता है लुई ब्रेल दिवस

मनोज-यादव-संवाददाता

मनोज-यादव-संवाददाता

 प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को लुई ब्रेल दिवस पूरे संसार में धूमधाम से मनाया जाता है यह दिवस नेत्रहीन लोगों के लिए भगवान बन कर उभरे लुई के जन्मदिवस के अवसर पर मनाया जाता है दरअसल लुई ने ब्रेल पद्धति अपनाकर अंधों के लिए नईदुनिया महसूस करने का अनोखा अवसर दिया यह वह पद्धति है जिससे अंधे नेत्रहीन लोग पढ़ लिख सकते हैं लुई ब्रेल का जन्म 1809 में फ्रांस के एक शहर में हुआ था जब वह बचपन में थे तभी चमड़े का कार्य कर रहे उनके पिता कि एक चाकू से उनकी आंख में चोट लग गई आर्थिक तंगी के कारण पिता तथा परिवारीजनों ने आंख के ठीक होने का इंतजार करते रहे लेकिन कुछ दिन बाद लुई की दूसरी आंख भी की रोशनी भी समाप्त होने लगी साधनविहीन पिता के पास कोई दूसरा अवसर नहीं था ना तो पर्याप्त पैसा था और ना ही कोई ऐसा साधन जिससे उसकी आंख को ठीक किया जा सके लेकिन लुई के अंदर विलक्षण प्रतिभा थी।  वह कोई साधारण बालक नहीं था उसने ब्रेल पद्धति के माध्यम से  खुद अपनी आंख का इलाज करना प्रारंभ किया जिससे वह पढ़ लिख सकता था और आसानी से किसी भी चीज को महसूस कर सकता था उसने इस पद्धति को और भी संसार के देशों में फैलाने का कार्य किया लुई ब्रेल की मृत्यु 1852 में हो गई लुई ब्रेल के 200वीं जयंती के अवसर पर भारत सरकार ने उनके सम्मान में डाक टिकट जारी कर लुई ब्रेल के सम्मान में को बढ़ाया है।blast-news

Filed in: लेखक

No comments yet.

Leave a Reply