3:17 pm - Sunday October 22, 2017

IAS बाबूलाल के CA की 20 लाख की संपत्ति ED ने की जब्त

2

Blast News Editor Firoz Siddiqui ,9644670008

रायपुर। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने पूर्व आईएएस अधिकारी बाबूलाल अग्रवाल के सीए सुनील अग्रवाल की 20 लाख की संपत्ति को जब्त किया है। सीए पर बोगस कंपनी खोलकर लाखों रुपए की हेराफेरी का आरोप था।

ईडी की जांच के बाद धनशोधन निवारण अधिनियम 2002 के तहत यह संपत्ति जब्त की गई है। ईडी के आला अधिकारियों ने बताया कि जब्त संपत्ति में देवपुरी स्थित एक भूखण्ड जिसका खसरा क्र.-84/23 तथा 84/25 व माप 1233 वर्ग फीट है।

बताया जा रहा है कि सीए ने यह राशि बाबूलाल अग्रवाल के लिए मनी लॉन्ड्रिंग करके प्राप्त की थी। ईडी के आला अधिकारियों ने बुधवार को सीए से पूछताछ की। उस जांच में उसने अपना अपराध स्वीकार किया।

उसने अपने भतीजे आलोक अग्रवाल एवं चाचा विनोद अग्रवाल के साथ खरोरा व आसपास के ग्रामीणों से संपर्क कर उनके नाम से पैन कार्ड जारी करवाया और अधिकांश की आयकर रहित आयकर विवरणी दाखिल की।

उसने इन पैन कार्ड, आयकर रिर्टन, फोटोग्राफ व अन्य दस्तावेजों को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, रामसागर पारा और पंडरी ब्रांच में कुल 446 खाते खोलने में प्रयोग किया। इसमें जाली हस्ताक्षरों का उपयोग किया गया।

अधिकारियों ने बताया कि सुनील अग्रवाल ने कहा कि यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के बैंक अधिकारियों ने प्राइम इस्पात लिमिटेड के निदेशक बाबूलाल अग्रवाल के भाई पवन अग्रवाल और अशोक कुमार अग्रवाल से मिलकर यह खाते खोले।

सुनील अग्रवाल ने अपने रिश्तेदारों को 13 मुखौटा कंपनियों का निदेशक बनाकर काले धन को सफेद किया। जांच में यह बात सामने आई कि लगभग 39.67 करोड़ की अवैध राशि जो बाबूलाल अग्रवाल के पास थी। 13 मुखौटा कंपनियों में शेयर एप्लीकेशन मनी के रूप में डाला गया, जिसे अंततः बाबूलाल अग्रवाल के भाई की कंपनी प्राइम इस्पात लिमिटेड में निवेश किया गया।

Filed in: छत्तीसगढ़, टॉप 10

No comments yet.

Leave a Reply