3:19 pm - Friday February 25, 4338

Valentine week, Rose Day 2018: गुलाब से जुड़ी ये बातें शायद आपको भी नहीं पता होगी….

1वैलेंटाइन वीक की शुरुआत 7 फरवरी से हो जाती है। विदेशों में इस दिन गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रैंड एक दूसरे को गिफ्ट देते हैं और प्रेम का इजहार करके मनाते हैं। यह भी कहा जाता है कि वेलेंटाइंस डे’ का नाम संत वेलेंटाइन के नाम पर रखा गया है। वेलेंटाइन डे वीक के पहले दिन आता है रोज डे….. इसी दिन के मौके पर आईये जानते आज रोज के बारे में…..

• गुलाब एक झाड़ीदार, कंटीला, पुष्पीय पौधा है जिसमे बहुत अच्छी सुगंधदार फुल होते है, और गुलाब की 100 से भी अधिक जातिया है, जिसमे सबसे अच्छे एशिया के गुलाब सबसे ज्यादा यूज़ होते है।

• भारत में उत्तर प्रदेश के एटा, कानपूर, गाजीपुर, बलिया और राजस्थान के उदयपुर और चित्तोड़ और जम्मू कश्मीर में हिमाचल और बाकि राज्यों में भी गुलाब की खेती होती है।

blast-news• असीरिया की शाहजादी पीले गुलाब से प्रेम करती थी, और मुग़ल बेगम नूरजहा को लाल गुलाब से प्रेम था। वहीँ यूरोप के कुछ देशो ने गुलाब को अपना राषट्रीय पुष्प घोषित किया है।

• राजस्थान की राजधानी जयपुर को गुलाबी शहर के नाम से जाना जाता है। गुलाब के इत्र का अविष्कार नुरजहा ने किया था। कश्मीर और भूटान में पीले फूल के जंगली गुलाब पाए जाते है।

• इसके अलावा पंडित जवाहर नेहरु गुलाब के प्रतिक माने जाते है। सीरिया के बादशाह गुलाबो का बगीचा लगाते थे।

• यूरोप के दो देशो का राष्ट्रीय फुल सफ़ेद गुलाब है और दुसरे देशो का राष्ट्रीय फुल लाल गुलाब है, और इन दोनों देशो के बीच गुलाब युद्ध छिड़ गया था।

• गुलाब की पंखुडियो और शक्कर से गुलकंद बनाया जाता है। क्या आपको पता है की गुलाब के इत्र के कुटीर उद्योग भी चलाये जाते है।

• दक्षिण भारत में गुलाब के उत्पादन के उद्योग चलाये जाते है, और दक्षिण भारत में फूलो का व्यापर जोर-शोर से चलता है। वैलेन्टाइन वीक में इसका व्यापर पूरी दुनिया में सबसे अधिक किया जाता है।

Filed in: टॉप 10, लाइफ स्टाइल

No comments yet.

Leave a Reply